धवल कुलकर्णी T20 मुम्बई लीग से हुए बाहर

मुंबई के सबसे अनुभवी तेज गेंदबाज धवल कुलकर्णी 11 से 21 मार्च तक वानखेड़े स्टेडियम में खेले जाने वाली पहली मुंबई T20 लीग से बाहर हो गए हैं |

29 वर्षीय कुलकर्णी, जो एक आइकन खिलाड़ी हैं, और शुरुआत में चोटिल होने की वजह से उन्हें किसी भी टीम ने नहीं खरीदा था, के17 मार्च तक पूरी तरह से फिट होने की उम्मीद हैं | बाद में मुंबई नॉर्थ ईस्ट ने उन्हें उनके बेस प्राइस 1.5 लाख में फर्स्ट क्लास प्लेयर्स की श्रेणी में चुना था | लेकिन अब वह पूरे टूर्नामेंट में खेलने में सक्षम नहीं हो पाएंगे और वर्तमान में एनसीए बेंगलुरु में रिहेब के दौर से गुजर रहे हैं |

शुक्रवार को मुंबई नॉर्थ ईस्ट के कोच अतुल रानाडे ने कहा कि, "हमें एमसीए से एक मौखिक पुष्टि मिली है कि धवल को टखने की चोट की वजह से टूर्नामेंट से बाहर कर दिया गया है | हमने उनके प्रतिस्थापन  की मांग की है और उनके निर्देशों का इंतजार कर रहे हैं |"

रानाडे खुश थे, क्योकि एक और चोटिल खिलाड़ी आकाश पारकर पूरी तरह से ठीक हो गए हैं | उन्होंने कहा कि, "आकाश पहले दिन से ही (5 मार्च) टीम से जुड़ गया हैं | वह चोटिल थे, लेकिन अब वे पूरी तरह से ठीक हो गए हैं |" 

रानाडे जो कि स्तर एक के कोच और मुंबई अंडर -16 के चयनकर्ताओं के अध्यक्ष हैं, ने एक दशक से भी ज्यादा समय से मुंबई की प्रथा को प्रशिक्षित किया है और गर्मियों के कई शिविर आयोजित किए हैं | फ्रैंचाइज़ क्रिकेट में कोच के रूप में यह उनकी पहली नौकरी हैं |

उन्होंने आगे कहा कि, "इन लड़कों के साथ ये पांच दिन शानदार रहे हैं | हम इस प्रारूप के लिए आवश्यक बुनियादी बातो और कुछ चीजों को समझ गए हैं | हमारे पास ए डिविजन और रणजी खिलाड़ियों का एक अच्छा समूह हैं | अन्य सभी खिलाड़ी रणजी की संभावनाएं हैं | इसलिए यह एक अच्छा मिश्रण है और हम यह सुनिश्चित करने के लिए लक्ष्य साध रहे हैं कि हम शीर्ष चार में पहले पहुंचें |"

मुंबई नार्थ ईस्ट के कप्तान सूर्यकुमार यादव ने धवल की अनुपस्थिति पर शोक व्यक्त किया हैं, लेकिन उन्हें उम्मीद है कि उनकी टीम को उनका प्रतिस्थापन जल्द ही मिल जायेगा |

यादव ने कहा कि, "धवल एक बड़ा नुकसान है, वह इस प्रारूप में सबसे अनुभवी गेंदबाज है, जाहिर है कि उन्होंने मुंबई के लिए बहुत काम किया हैं | हम उन्हें बहुत याद करेंगे, लेकिन ऐसे भी खिलाड़ी हैं जो उनके स्थान पर टीम में प्रवेश कर सकते हैं | वे खेलने के लिए उत्साहित भी हैं और वह उनके स्थान को भरने के लिए कड़ी मेहनत भी कर रहे हैं |"

यादव ने आगे कहा कि, "यह मुश्किल है लेकिन अपनी कड़ी मेहनत और समर्पण के माध्यम से ऐसा लग रहा है कि टूर्नामेंट में बहुत सी आष्चर्यचकि चीज़े देखने को मिलेगी |"


By Pooja Soni - 10 Mar, 2018

    Share Via