थिसारा परेरा के अनुसार कुशल मेंडिस का आउट होना टीम के लिए था टर्निंग पॉइंट

थिसारा परेरा के अनुसार कुशल मेंडिस का आउट होना टीम के लिए था टर्निंग पॉइंट

AFP

कुशल मेंडिस ने निदास ट्राफी 2018 में भारत के खिलाफ आर प्रेमदासा स्टेडियम में लगातार दूसरे मैच में अर्धशतक बनाया था |

कुशल ने एक बहुत ही अच्छी पारी खेली जिसके बाद लग रहा था कि वे टीम को एक अच्छी स्तिथि में ले आएंगे | हालांकि, युजवेंद्र चहल द्वारा उनके आउट हो जाने की वजह से टीम की गति में काफी  नुकसान हुआ और श्रीलंका अगले सात ओवरों में केवल 39 रन ही बना पाए | जिसके बाद श्रीलंका के कप्तान थिसारा परेरा का कहना हैं कि मेंडिस का आउट हो जाना टीम के लिए टर्निंग पॉइंट था |

परेरा ने कहा हैं कि, "मेंडिस ने वास्तव में अच्छी बल्लेबाजी की थी | हम 30-25 रन पीछे थे | यह हमारी हार का  का मुख्य कारण है | अन्य ने अपनी योजनाओं को अंजाम ही नहीं दिया |"

श्रीलंका की बल्लेबाजी में मेंडिस की अर्धशतकीय पारी ही एकमात्र उत्साह का स्थान था | टीम पहले ही दिनेश चांदीमल की सेवाएं खो चुकी हैं, जिन्हें धीमे ओवर-रेट के अपराध के कारण दो मैचों के लिए निलंबित कर दिया गया था | परेरा ने निष्पादन की कमी के लिए खुद को और बल्लेबाजों को दोषी ठहराया हैं |

श्रीलंका के कप्तान ने कहा कि, "पिछले दो मैचों में हमें 7 या 8 नम्बर के बल्लेबाजों की ज़रूरत ही नहीं पड़ी थी | इसलिए हमने सोचा था कि हमारे पास मौजूद बल्लेबाज़ पर्याप्त होंगे | लेकिन आज हमने अच्छी बल्लेबाजी नहीं की, साथ ही मैंने भी | मेरी भी उसके लिए उतना ही दोषी हूँ | मैंने शुरुआत में अच्छी बल्लेबाजी की और मैं उसे आगे भी जारी रख सकता था | लेकिन मैंने जो कुछ करने की कोशिश की, तब मैं सीमा पर मारने की कोशिश कर रहा था | मुझे लगता है कि हम कुसल मेंडिस के रहते कुछ  बेहतर बल्लेबाजी कर सकते थे |"

परेरा ने कहा कि, "यह हार का सबसे बड़ा कारण था | हम ने शुरुआत में ही जल्द ही दो और तीन विकेट गंवा दिए थे | हमें उस अवधि के दौरान डटे रहना चाहिए था और अगर हमने ऐसा किया होता, तो हम आसानी से लगभग 180 का स्कोर बना लेते | इस पिच का बचाव करने के लिए गेंदबाजों को कम से कम 175 रन चाहिए |"


By Pooja Soni - 13 Mar, 2018

    Share Via