एन श्रीनिवासन से 2009 आईपीएल की जाँच के मामले में हुई पूछताछ

सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) से अनिवार्य अनुमति के बिना 2009 में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के लिए भारत से दक्षिण अफ्रीका में धनराशि को ट्रांसफर करने के संबंध में पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष एन श्रीनिवासन से पूछताछ की हैं |

यह आरोप उन पर साल 2009 में लगाया गया था, कि दक्षिण अफ्रीका में हुए आइपीएल के दूसरे सत्र में दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट बोर्ड (सीएसए) को बीसीसीआइ द्वारा करीब 243 करोड़ रुपये के बराबर की विदेशी मुद्रा का ट्रांसफर किया था |

साल 2009 में,  बीसीसीआई के अध्यक्ष शशांक मनोहर और सचिव एन श्रीनिवासन थे | उस समय ललित मोदी बीसीसीआई के उपाध्यक्ष के साथ आईपीएल के आयुक्त भी नियुक्त किये गए थे | टाइम्स ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार सूत्रों ने बताया हैं कि, सोमवार को पूछताछ की कार्यवाही के दौरान श्रीनिवासन के प्रतिनिधि ने अपना बयान पढ़ा, जहां उन्होंने उल्लेख किया था कि मोदी भी फंडों के  ट्रांसफर से संबंधित फैसले लेने की प्रक्रिया का हिस्सा थे |

श्रीनिवासन ने यह भी बताया हैं कि वे सिर्फ बीसीसीआई अध्यक्ष (मनोहर) और क्रिकेट बोर्ड की कार्यकारिणी समिति के निर्देशों का पालन कर रहे थे | श्रीनिवासन और मनोहर दोनों ने ही टिप्पणी करने से इनकार कर दिया था |

मोदी के वकील महमूद अब्दी ने कहा हैं कि, "कार्यवाही के दौरान, श्रीनिवासन पूरे दोष शशांक पर डालने की कोशिश कर रहे थे, जहाँ उन्होंने कहा कि वह बीसीसीआई के मुख्य अधिकारी थे और हर कोई उन्हें तहत काम कर रहा था | और शशांक श्रीनिवासन को दोष दे रहे हैं | मोदी बोर्ड की वित्तीय निर्णय लेने की प्रक्रिया में और आईपीएल मैचों में बदलाव लेने के किसी भी फैसलों में शामिल नहीं थे |"


By Pooja Soni - 13 Mar, 2018

    Share Via