हरमनप्रीत कौर को फ़र्ज़ी डिग्री के चलते डीएसपी पद से हाथ धोना पड़ा

 हरमनप्रीत कौर | Getty

भारतीय महिला T20 कप्तान हरमनप्रीत कौर की मार्कशीट के फर्जी होने की पुष्टि होने के बाद अब हरमनप्रीत कौर की पंजाब में पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) की नौकरी मिलना मुश्किल सा लग रहा हैं |

क्रिकेट की दुनिया में शानदार प्रदर्शन करने पर हरमनप्रीत को रेलवे ने नौकरी दी थी और उसके बाद उन्हें पंजाब पुलिस में डीएसपी की नौकरी दी गई थी, लेकिन अब उनका डिमोशन होना तय ही माना जा रहा है |

साथ ही उन्हें डीएसपी से सिपाही के पद पर डिमोट करने पर विचार किया जा रहा है | हाल ही में हरमनप्रीत को साल 2016-17 के लिए सर्वश्रेष्ठ महिला क्रिकेटर भी चुना गया है |

क्रिकेटनेक्स्ट की रिपोर्ट के अनुसार पंजाब सरकार ने हरमनप्रीत को डीएसपी के पद से हटाकर सिपाही के पद की पेशकश की है | पंजाब सरकार के सूत्रों ने बताया हैं कि हरमनप्रीत ने सिर्फ 12वीं क्लास ही पास की है | जिसके चलते उन्हें सिर्फ सिपाही का पद ही दिया जा सकता है | उनका कहना हैं कि हमने हरमनप्रीत कौर से कह दिया है कि अगर वह सिपाही पद पर रहना चाहती हैं तो हमें बता दें, लेकिन बीए पास नहीं होने के कारण उन्हें डीएसपी का पद नहीं दिया जा सकता है |

रिपोर्ट के अनुसार, पंजाब के मोगा इलाके की रहने वाली हरमनप्रीत ने मेरठ के चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय से अपनी स्नातक की उपाधि प्रदान की थी | लेकिन, सत्यापन पर, डिग्री नकली साबित हुई | विश्वविद्यालय ने उसे छात्र के रूप में रखने से इंकार भी कर दिया हैं |

इस बीच, हरमनप्रीत के परिवार ने पहले ही इन आरोपों से इंकार कर दिया था | हरमनप्रीत के पिता ने कहा हैं कि, "उसने मोगा से अपनी स्कूली शिक्षा की और फिर उन्हें भारतीय क्रिकेट टीम में चुना गया था | उन्होंने दिल्ली और मेरठ से अपना शेष अध्ययन पूरा किया था | उसे रेलवे के आधार पर भारतीय रेलवे द्वारा नौकरी मुहैया कराई गई थी |"


By Pooja Soni - 10 Jul, 2018

    Share Via