दिल्ली के पूर्व कोच भास्कर के अनुसार प्राकृतिक खेल ही एकमात्र तरीका हैं जो रिषभ पंत जानता हैं

रिषभ पंत | Getty

इंग्लैंड में खेले जा रहे 5 टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच युवा विकेटकीपर बल्‍लेबाज रिषभ पंत के लिए यादगार रहा |

इस मैच में उन्हें सीनियर विकेट कीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक की जगह मौका दिया गया हैं और पंत ने भी इस मौके को हाथोंहाथ लिया | भले ही बल्लेबाजी में ऋषभ पंत 24 रन बनाकर मैदान से बाहर हो गए हो, लेकिन कैच कपकने के मामले में उन्होंने कीर्तिमान रच दिया | अपने डेब्यू टेस्ट इनिंग में 5 खिलाड़ियों को आउट करने के मामले में अब पंत दुनिया के तीसरे और एशिया के पहले विकेट कीपर बन गए हैं |

जिसके बाद दुलिप ट्रॉफी में इंडिया ग्रीन के कोच केपी भास्कर ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया से बात करते हुए  बताया हैं कि, "उनका चरित्र ऐसा हैं, जिस पर पूरी तरह से विश्वास किया जा सकता हैं कि वह क्या कर रहे हैं | अगर यहाँ पहली गेंद हिट करना हैं, तो वह उसे मरेगा |"

भास्कर ने कहा कि, "पंत को टेस्ट मैच में अनुकूल होना होगा | हालांकि, हमने कभी भी दिल्ली में उनकी प्राकृतिक प्रवृत्तियों को कम नहीं किया है | उसे प्राकृतिक होना होगा | यही एक एकमात्र तरीका है, जिसे वह जानता हूँ | मुझे यकीन है कि वह सफल होगा |"

भास्कर ने कहा कि, "यह आत्मविश्वास प्राप्त करने के बारे में सवाल है | यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप अपना डेब्यू करने के साथ ही शुरुआती दबाव ले सकते हैं या नहीं | उन्हें प्रतिभा और उम्र भी मिल गई है | भारत एक विकेटकीपर की तलाश में है जो बल्लेबाजी कर सकता है | मुझे यकीन है कि वह अपनी जगह पक्की करेगा, लेकिन  बशर्ते उन्हें पर्याप्त अवसर दिए जाए |"

उन्होंने आगे कहा कि, "उन्होंने यहाँ बहुत सारे सारी कोचिंग नहीं की हैं | उनके पास उनके प्रदर्शन में सभी शॉट हैं | मैंने उन्हें अतीत में सलाह दी थी, कि उन्हें अपने शॉट चुनाव के साथ और अधिक संगत होने की जरूरत है | यहाँ स्ट्रोक प्लेयर को यह कहने की कोई बात नहीं है | यह काम नहीं करता है |उच्चतम स्तर पर अधिक अनुभव और जोखिम के साथ, वह वह सब सीखेंगे |"


By Pooja Soni - 20 Aug, 2018

    Share Via