एलिस्टेयर कैंपबेल के अनुसार पृथ्वी शॉ अपने डेब्यू टेस्ट में अविश्वसनीय थे

पृथ्वी शॉ | Reuters

एलिस्टेयर कैंपबेल उस समय स्कूल में थे, जब उन्हें जिम्बाब्वे के लिए खेलने के लिए चुना गया था| 20 साल की उम्र में स्टाइलिश बाएं हाथ के बल्लेबाज़ 1992 में भारत के खिलाफ अफ्रीकी राष्ट्र के शुरूआती टेस्ट का हिस्सा थे|

पूर्व कप्तान का मानना ​​है कि क्रिकेट के युवा खिलाड़ी पृथ्वी शॉ महान चीजों के लिए नियुक्त किये गए हैं| अफगानिस्तान प्रीमियर लीग के कमेंटेटर कैंपबेल ने स्पोर्टस्टार से बात करते हुए कहा हैं कि, "उन्होंने अपने डेब्यू टेस्ट मैच में जो किया वह अविश्वसनीय था| मुझे उनकी तकनीक पसंद है और जिस तरह से वह बहुत देर तक खेलते हैं| वह अपनी उम्र से कही ज्यादा मानसिक रूप से उन्नत है| जब आपके पास सचिन तेंदुलकर के रूप में सलाहकार होता है, तो आपके पास सफल होने की संभावना होती है|"

जब कैंपबेल उस बल्लेबाज का नाम देने को कहा जिसे देखना वह पसंद करते हैं, तो उन्होंने कहा कि वह केवल विराट कोहली के बारे में सोच सकते हैं| उन्होंने कहा कि, चाहे किसी भी पररूप में आप कोहली को खिलाएं वो रन बनाते हैं| इस समय दुनिया के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज हैं विराट कोहली|" 

एलिस्टेयर कैंपबेलदेश में क्रिकेट की वापसी के बारे में बात करते हुए, उन्होंने स्वीकार किया हैं कि जिम्बाब्वे कठिन दौर से गुजर रहा था, खासतौर पर अपने पूर्व टीम के साथी हीथ स्ट्रीक ने अदालत से कोच के रूप में अपनी सेवाओं के लिए भुगतान करने में विफल होने के बाद जिम्बाब्वे क्रिकेट (जेडसी) को समाप्त करने के लिए कहा था|

कैंपबेल ने कहा कि, "आप ऐसा नहीं करना चाहते हैं, विशेष रूप से आपके प्रतिष्ठित खिलाड़ियों में से एक स्ट्रीक के साथ| मुझे खुशी है कि आईसीसी ने हस्तक्षेप किया है और जेडसी ने महसूस किया है कि इसे अपने घर को व्यवस्थित करना है| यह स्प्रिंगबोर्ड होना चाहिए, जहाँ धन को बुनियादी ढांचे और विकास में निवेश किया जाना चाहिए|"


By Pooja Soni - 11 Oct, 2018

    Share Via