×
SRI LANKA vs INDIA Latest News Featured COC Interviews IndVsAus Domestic COC Hindi Social Scoop Gallery Humour

रणजी ट्रॉफी के मैच के लिए खिलाड़ियों को नहीं भाया तटस्थ स्थान

By Pooja Soni -


भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) का तटस्थ स्थानों पर रणजी मैचों को आयोजित करने का पहला प्रयास बुरी तरह विफल हुआ |

यह व्यवस्था कई शीर्ष घरेलू खिलाडिय़ों के अनुसार मेजबान संघों की उदासीनता और खराब योजना के कारण  नहीं चल पाई | प्रतियोगिता को अधिक प्रतिस्पर्धी बनाने के लिए बीसीसीआई ने यह तरीका अपनाया था ताकि टीम घरेलू मैदानों पर मिलने वाले फायदे का फायदा नहीं उठा सकें और उन्हें अलग-अलग परिस्थितियों में खेलने का अनुभव हासिल हो |

तीन राज्यों के लिए खेल चुके और अभी राजस्थान की टीम से जुड़े अनुभवी खिलाड़ी रजत भाटिया ने पीटीआई से कहा हैं की, "यह विचार अच्छा था लेकिन उसके लागू करने का तरीका बेहद खराब था | अधिकतर मेजबान संघों ने दूसरी टीमों के मैचों के आयोजन में दिलचस्पी नहीं दिखाई | सुविधाएं काफी खराब थीं, चाहे वह हमें अच्छा विकेट देने की बात हो या पर्याप्त गेंदें और बढिय़ा भोजन की |"

साथ ही भाटिया ने कहा की, "असम के खिलाफ विजाग में हमारे मैच को ही लीजिए | विकेट प्रथम श्रेणी मैच के अनुकूल नहीं था और इसलिए मैच तीन दिन के अंदर खत्म हो गया | उस मैच में तेज गेंदबाजों का दबदबा रहा था | पंकज सिंह ने नौ विकेट लिए और राजस्थान ने तीन दिन के अंदर पारी और आठ रन से जीत दर्ज की |"

मैचों का कार्यक्रम खिलाडिय़ों के लिए एक और मसला था | गुजरात और भारत के स्पिनर अक्षर पटेल ने कहा हैं की, "कार्यक्रम बड़ी समस्या थी | कई बार मैचों में सिर्फ तीन दिन का अंतर था और हमें उस स्थान पर जाना था जहां पहुंचना आसान नहीं था | हमें काफी समय सड़क के रास्ते बसों में बिताना पड़ा | लोगों ने भी इन मैचों में दिलचस्पी नहीं दिखाई | इसलिए भी अक्षर को तटस्थ स्थानों का विचार रास नहीं आया |

तमिलनाडु के ओपनर अभिनव मुकुंद ने विकेटों की आलोचना की थी और टूर्नामेंट के दौरान कहा था की, "मुझे यह विचार पसंद नहीं आया क्योंकि ऐसे में आप साल भर एक जैसी परिस्थिति में खेलते हो | घरेलू मैदान पर खेलना वास्तव में महत्वपूर्ण है |"